PM Modi के कहने पर Adani Group को श्रीलंका में मिला प्रोजेक्ट

PM Modi के कहने पर Adani Group को श्रीलंका में मिला प्रोजेक्ट

Adani Group Reaction अडाणी समूह को श्रीलंका में मिली एक पवन ऊर्जा परियोजना पर विवादित टिप्पणी करने वाले द्वीपीय देश के एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया.

एक दिन पहले ही यह अधिकारी अपने बयान से पलट गए थे. अधिकारी ने देश की संसदीय समिति के समक्ष अडाणी समूह को परियोजना देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित तौर पर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को प्रभावित करने का दावा किया था.

शेयर बाजार में हाहाकार के बावजूद रॉकेट बने Adani group के ये दो शेयर

टाटा ग्रुप के TTML शेयर में अरसे बाद उछाल दे चुका है 487 फीसद रिटर्न

अडानी ports share 980 रुपये तक जाएगा एक्सपर्ट ने कहा खरीदो

इस संबंध में श्रीलंका के ऊर्जा मंत्री कंचना विजयशेखर ने कहा कि सार्वजानिक क्षेत्र की बिजली कंपनी सीलोन इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड (सीईबी) के चेयरमैन एमएमसी फर्डिनेंडो का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है.

Adani Group got the project at the behest of PM Modi.
Adani Group got the project at the behest of PM Modi.

फर्डिनेंडो ने शुक्रवार को सार्वजनिक उपक्रम समिति (सीओपीई) की सुनवाई के दौरान कहा था कि राष्ट्रपति राजपक्षे ने पिछले साल नवंबर में उन्हें एक बैठक के बाद तलब किया था.

Gautam Adani Group  | PM modi

अधिकारी के अनुसार, राष्ट्रपति राजपक्षे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आग्रह पर इस परियोजना को भारत के अरबपति उद्योगपति गौतम अडाणी के समूह को देने के लिए कहा था. हालांकि, श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने संसदीय समिति के समक्ष फर्डिनेंडो के बयान को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया. भारत सरकार की तरफ से इस मामले पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

इस बीच, अडाणी समूह ने सोमवार को एक बयान जारी कहा, ‘‘श्रीलंका में निवेश करने का हमारा इरादा एक मूल्यवान पड़ोसी की जरूरतों को पूरा करना है. एक जिम्मेदार कंपनी के रूप में

Simple-and-smart-way-to-start-Investing
Simple-and-smart-way-to-start-Investing

 

अगर आपको इस पोस्ट में कुछ अच्छा या समाज नहीं आता है तो निचे कमेंट में हमें बताइये 

हम इसे उस साझेदारी के एक आवश्यक हिस्से के रूप में देखते हैं जिसे हमारे दोनों देशों ने हमेशा साझा किया है.’’ समूह के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम स्पष्ट रूप से इस टिप्पणी को लेकर निराश है। इस मुद्दे को श्रीलंका सरकार द्वारा पहले ही उठाया जा चुका है.’’

President Gotabaya Rajapaksa

This Post Has One Comment

  1. Pingback: Tata Group Stocks मल्‍टीबैगर स्‍टॉक में और भागेगा ब्रोकरेज दिया टारगेट

Leave a Reply